Breaking News अन्य खबरें अपराध देश राज्य होम

बुलंदशहर हिंसा: यूपी पुलिस ने की ताबड़तोड़ छापेमारी, दो लोग गिरफ्तार, 27 लोगों के खिलाफ FIR

Posted by Vimal shukla

बुलंदशहर हिंसा: यूपी पुलिस ने की ताबड़तोड़ छापेमारी, दो लोग गिरफ्तार, 27 लोगों के खिलाफ FIR

Updated: Dec 04, 2018, 10:21 AM

लिस ने इस मामले में दो एफआईआर दर्ज की है, जिसमें एक प्राथमिकी गौकशी, जबकि दूसरी हिंसक विरोध प्रदर्शन के मामले में दर्ज की गई है.

नई दिल्‍ली/बुलंदशहर : उत्तर प्रदेश के मेरठ मंडल से जुड़े बुलंदशहर जनपद में सोमवार को उपद्रवी भीड़ द्वारा की गई हिंसा और इस दौरान मचे बवाल के दौरान स्याना थाने के इंस्पेक्टर की हुई हत्‍या के बाद यूपी पुलिस ने बीती रात जनपद और आसपास के क्षेत्रों में छापेमारी की. इस छापेमारी के दौरान पुलिस ने दो लोगों को गिरफ्तार भी किया है. सयाना पुलिस ने इस मामले में एफआईआर दर्ज की है, जिसमें 27 नामज़द हैं और 60 अज्ञात लोगों के ख़िलाफ़ मुक़दमा दर्ज किया है. बताया जा रहा है कि इन 28 लोगों की पहचान की जा चुकी है. इनके अलावा और भी लोग हैं, जिनकी पहचान की जा रही है. पुलिस ने इस मामले में दो एफआईआर दर्ज की है, जिसमें एक प्राथमिकी गौकशी, जबकि दूसरी हिंसक विरोध प्रदर्शन के मामले में दर्ज की गई है.

पुलिस ने गोकशी के मामले में नयाबांस गांव निवासी योगेशराज की तहरीर पर गांव के सात लोगों के खिलाफ गोवध अधिनियम की धारा के तहत मुकदमा दर्ज किया है।

वहीं, इंस्‍पेक्‍टर सुबोध की पोस्‍टमॉर्टम रिपोर्ट में कई चौंकाने वाली जानकारियां सामने आई हैं. पोस्‍टमॉर्टम रिपोर्ट में सामने आया हैै कि कोतवाल की गोली लगने से मौत होने की हुई पुष्टि है. बुलंदशहर के डीएम ने भी इस बात की पुष्टि की है कि कोतलाव के सिर में गोली लगी थी.

यह बात भी सामने आई है कि उपद्रवी शहीद कोतवाल सुबोध कुमार की सरकारी पिस्टल भी लूटकर ले गए थे. जिले में तनाव को देखते हुए धारा 144 लागू गई है.

वहीं, सुबह पुलिस लाईन में शहीद इंस्पेक्टर सुबोध कुमार को अंतिम स्लामी दी गई. इस दौरान प्रदेश के आला पुलिस एवं प्रशासनिक अधिकारी भी मौजूद रहे. श्रद्धांजलि के बाद शहीद इंस्‍पेक्‍टर का पार्थिव शरीर उनके एटा जिले के तरगवां गांव स्थित पैतृक घर ले जाया जाएगा.

 इंस्‍पेक्‍टर सुबोध (फाइल फोटो)

उल्‍लेखनीय है कि शहीद कोतवाल दादरी के बिसाहड़ा कांड के जांच अधिकारी भी रहे थे. वह अखलाक हत्याकांड के समय जारचा थाने के कोतवाल थे.

ये भी देखें- बुलंदशहर में बिगड़े हालात, कथित गोहत्या के शक में भड़की हिंसा

 

बता दें कि उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सोमवार को बुलन्दशहर में हुई हिंसा पर दुख व्यक्त किया और इस घटना में शहीद हुए पुलिस इंस्पेक्टर के परिजन को कुल 50 लाख रूपये की सहायता का ऐलान किया है. मुख्यमंत्री ने दो दिन के अंदर मामले की जांच कर रिपोर्ट देने के आदेश भी दिया है. मुख्यमंत्री ने इस सिलसिले में देर रात एक बयान जारी किया.

उन्होंने बुलन्दशहर के चिंगरावठी इलाके में गोवंशीय पशुओं के अवशेष मिलने को लेकर उग्र भीड़ द्वारा की गयी हिंसा में स्याना के कोतवाल इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह तथा स्थानीय निवासी सुमित की मृत्यु पर गहरा दुःख व्यक्त किया.