Breaking News अन्य खबरें गुजरात देश धर्म राजनीति राज्य होम

MP चुनाव 2018: बीजेपी और कांग्रेस की जीत में सपा-बसपा बन सकते हैं रोड़ा, इन सीटों पर फंसेगा पेंच

Posted by. Vimal shukla

Sunday  25 नवंबर 2018 11:00 a.m.

मध्यप्रदेश में बसपा ने 227, आम आदमी पार्टी ने 208 और समाजवादी पार्टी ने 52 उम्मीदवारों को चुनावी मैदान में उतारा है.

नई दिल्ली: मध्यप्रदेश में चुनाव प्रचार अंतिम चरण में पहुंच चुका है. 28 नवंबर को वोटिंग से पहले बीजेपी और कांग्रेस समेत दूसरे दलों ने प्रचार में अपनी जान फूंक दी है. इस बार राज्य के प्रमुख दल बीजेपी और कांग्रेस को कई सीटों पर तीसरे मोर्चे से कड़ी टक्कर मिलने की उम्मीद है. वहीं, पहली बार चुनावी मैदान में उतरे आम आदमी पार्टी और गोंगपा जैसे दल भी दोनों दलों की नाक में दम करने से बाज नहीं आएंगे.

इन सीटों पर त्रिकोणीय मुकाबला

मुरैना: चंबल अंचल की इस सीट से बीजेपी ने मौजूदा विधायक रुस्तम सिंह पर ही दांव लगाया है. उधर, कांग्रेस ने रघुराज सिंह कंषाना को मैदान में उतारा है. मगर बसपा ने इस सीट से दबंग नेता बलबीर सिंह दंडौतिया को टिकट देकर मुकाबले को रोचक बना दिया है. बलबीर मौजूदा समय में दिमनी के विधायक हैं. बसपा इस सीट पर इसलिए टक्कर में है क्योंकि 2013 के चुनाव में उनके प्रत्याशी रामप्रकाश दूसरे नंबर पर रहे थे.

अंबाह: मुरैना जिले की इस सीट पर बीजेपी और कांग्रेस का मुकाबला बसपा और सपाक्स से है. बसपा ने अपने मौजूदा विधायक सत्यप्रकाश पर एक बार फिर से विश्वास जताया है. क्षेत्र की जनता के बीच सक्रिय सत्यप्रकाश ने पिछले चुनाव में बीजेपी के उम्मीदवार बंशीलाल जाटव को 11 हजार से ज्यादा वोटों से हराया था. उधर, सवर्णों के संगठन सपाक्स ने नेहा किन्नर को प्रत्याशी बनाया है. वहीं, बीजेपी ने हारे हुए प्रत्याशी का टिकट काटकर गब्बर सिंह को टिकट दिया है और कांग्रेस ने यहां से कमलेश जाटव पर दांव खेला है.

सुमावली: चंबल संभाग की सुमावली सीट पर भी बसपा ने मौजूदा जिला पंचायत उपाध्यक्ष मानवेंद्र गांधी को उतारकर मुकाबले को त्रिकोणीय बना दिया है. बीजेपी ने यहां से अजब सिंह कुशवाह और कांग्रेस ने पूर्व मंत्री ऐंदल सिंह कंषाना पर दांव खेला है. मौजूदा समय में सुमावली सीट बीजेपी के पास है.

भिंड: इस सीट पर भी बसपा के संजीव सिंह कुशवाहा का मुकाबला बीजेपी के नेता चौधरी राकेश सिंह चतुर्वेदी  और सपा के नरेंद्र सिंह कुशवाहा से है. नरेंद्र सिंह इस सीट से पिछली बार बीजेपी के टिकट पर चुनाव जीते थे. वहीं, कांग्रेस ने रमेश दुबे को यहां से टिकट दिया है.

MP चुनाव 2018: BJP का साथ छोड़ कांग्रेस में शामिल हुए ‘सरताज’ का ऐसा रहा है राजनीतिक इतिहास

राजनगर: छतरपुर जिले की इस सीट पर समाजवादी पार्टी ने नितिन चतुर्वेदी को टिकट दिया है. यह प्रत्याशी कांग्रेस के दिग्गज नेता रहे सत्यव्रत चतुर्वेदी के बेटे हैं. इनका मुकाबला मौजूदा विधायक विक्रम सिंह नातीराज से हैं. वहीं, बीजेपी के उम्मीदवार अरविंद पटेरिया कांग्रेस की इस गुटबाजी का फायदा उठाकर जीत अपने पाले में करने की कोशिश में हैं.

ग्वालियर ग्रामीण: ग्वालियर संभाग की इस सीट से बीजेपी ने मौजूदा विधायक भरत कुशवाह को चुनावी रण में दोबारा मौका दिया है. इसके जवाब में कांग्रेस ने मदन कुशवाह पर दांव लगाया है. लेकिन बसपा ने पूर्व कांग्रेसी साहब सिंह गुर्जर को टिकट देकर लड़ाई को त्रिकोणीय बना दिया है.

मनगवां: रीवा जिले की मनगवां विधानसभा सीट पर बसपा की शीला त्यागी विधायक हैं. राज्य के प्रमुख दल बीजेपी-कांग्रेस इस सीट को छीनने की कोशिश में हैं. इस बार समीकरण बदलने के लिए बीजेपी ने पंचूलाल प्रजापति को टिकट दिया है. वहीं, कांग्रेस ने बबीता साकेत को उतारा है.

बालाघाट: इस सीट पर 2013 में बीजेपी के कद्दावर नेता गौरीशंकर बिसेन से हारने वाली उम्मीदवार अनुभा मुंजारे को समाजवादी पार्टी ने फिर से टिकट दिया है. इसके पीछे वजह यह है कि अनुभा महज 3015 वोटों से हारी थीं. उधर, कांग्रेस ने विश्वेश्वर भगत को यहां से उतारा है.